अजमल सी० एस० आर० का आपातकालीन राहत कार्य जारी

अजमल सी० एस० आर० का आपातकालीन राहत कार्य जारी
 
मौलाना बदरुद्दीन अजमल ने एक लाख और राशन किट वितरित करने की घोषणा की
हुजाई , 5 मई 2020: पूरी दुनिया में कोविद -19 महामारी और निरंतर लॉकडाउन से प्रभावित हर जगह समुदायों और अर्थव्यवस्थाओं को एक अभूतपूर्व चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। भारत भी कठिन समय और आर्थिक संकट से गुजर रहा है। मुख्य रूप से दिहाड़ी मजदूर, छोटे व्यापारी और ग़रीब किसान दाने दाने का मोहताज होगया है, और उससे बुरी दुर्दशा उन काम करने वालों कि है जो अपने वतन से दूर दुसरे क्षेत्रों में रोज़गार कि तलाश में निकले हुए थे।आज उनके पास न तो भोजन है और न ही घर लौटने का किराया।
 
इस संकट कि घड़ी में जहाँ मुल्क के उदार लोग और दूसरी धार्मिक और सामाजिक संगठन गरीब और असहायों कि सहायता के लिए आगे आरही हैं, वहीँ उत्तरपूर्वी भारत का सबसे बड़ा सामाजिक संगठन अजमल सी० एस० आर० अपने दो संगठनों मर्कजुल मआरिफ़ और अजमल फाउंडेशनकी मदद से मार्च में प्रधानमंत्री द्वारा तालाबंदी की घोषणा के बाद से दिन रात राहत कार्य कर रहे हैं। 
 
अजमल सी० एस० आर० के ये दोनों संगठन देश भर में और मुख्य रूप से उत्तरपूर्वी इंडिया में किसी भी आकस्मिक मुसीबत, आफत और दूसरी आवश्यक स्थिति में ये संगठन हमेशा सहायता करने से जानी और पहचानी जाती है।
 
इस समय उपर्युक्त संगठन एक महीने से लगातार बिना किसी धार्मिक भेद भाव के सभी ज़रुरतमंदों कि आवश्यक खाने कि पूर्ति करने मे लागे हैं, और साथ साथ कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क और सेनेटाईसर्स पहुंचाने का भी कार्य कर रहे हैं। 
 
अजमल सी० एस० आर० के सी० ई० ओ० और असम से सांसद मौलाना बदरुद्दीन अजमल ने एक प्रेस नोटि में बताया कि हर राज्य में आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों के साथ, अधिक समस्या उन लोगों की है जो दुसरे क्षेत्रों से रोज़गार कि तलाश में आये हुए हैं और लॉक डाउन कि वजह से फंस गये हैं। इसलिए हमारी प्राथमिकता स्थानीय गरीबों और जरूरतमंद लोगों की मदद करने के साथ-साथ प्रवासियों का समर्थन करना है। मौलाना अजमल ने कहा कि अब तक हमने 75,000 खाद्य किट वितरित किए हैं, जो पांच लोगों के परिवार के लिए लगभग 15 दिनों का राशन है, और मज़ीद एक लाख खाद्य किट वितरण करने की तैयारी कर रहे हैं जो इस तीसरे तालाबंदी और  रमजान के भीतर पूरी की जाएंगी, इंशाअल्लाह।
 
मौलाना अजमल ने ये भी कहा है कि सरकारी अधिकारी भी उनके संगठनों के साथ सहयोग कर रहे हैं, और उन्हें प्रवासी मजदूरों तक पहुंचने के लिए स्थानीय सरकारी अधिकारियों से भी मदद मिल रही है। उन्होंने सरकार और कल्याणकारी संगठनों के बीच निरंतर सहयोग और क्षेत्र में व्यस्त अजमल सी० एस० आर० के संगठनों और स्वयंसेवकों के लिए और सुविधा के लिए भी अपील की।
 
अजमल सी० एस० आर० के संयुक्त सी० ई० ओ०, पूर्व सांसद श्री सिराजुद्दीन अजमल ने कहा है कि रमजान के पवित्र महीने के शुरू होजाने के बाद से हम दो महाज़ौ पर कार्य कर रहे हैं। एक कार्य कोड-19 के कारण लॉक डाउन से परेशान और दुखी लोगों के लिये उनकी आवश्यकों कि पूर्ति करने का है, और दूसरा कार्य हर वर्ष कि तरह लाखों ग़रीब रोजेदारों तक ज़रुरियात के सामान के साथ रमजान फ़ूड किट पहुंचाने का है।
 
सिराजुद्दीन अजमल ने कहा कि इस बहुत बड़ी आपातकालीन सहायता कार्य मे हम अपने सभी शुभचिंतकों का समर्थन प्राप्त कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अजमल ग्रुप  का भी बड़ा साथ मिल रहा है। इसलिए, मैं उन सभी स्वयंसेवकों और सहायकों का धन्यवाद करता हूं जो अथक रूप से सेवाएं दे रहे हैं और मैं उनके लिए प्रार्थना करता हूं कि अल्लाह उन्हें बेहतरीन बदला दे।